-->
<

राष्ट्र की प्रगति की गति को प्रधानमंत्री गतिशक्ति के शुभारंभ के माध्यम से नई ' शक्ति ' मिली: केंद्रीय मंत्री श्री सर्वानंद सोनोवाल

राष्ट्र की प्रगति की गति को प्रधानमंत्री धातिशक्ति के शुभारंभ के माध्यम से नई ' शक्ति ' मिली: केंद्रीय मंत्री श्री सर्वानंद सोनोवाल
 राष्ट्र की प्रगति की गति को प्रधानमंत्री गतिशक्ति के शुभारंभ के माध्यम से नई ' शक्ति ' मिली: केंद्रीय मंत्री श्री सर्वानंद सोनोवाल

17 Oct 2021:  राष्ट्र की प्रगति की गति को प्रधानमंत्री गतिशक्ति के शुभारंभ के माध्यम से नई ' शक्ति ' मिली: केंद्रीय मंत्री श्री सर्वानंद सोनोवाल, सर्बानंद सोनोवाल ने  डिब्रूगढ़ में प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की.

केंद्रीय बंदरगाहों, जहाजरानी और जलमार्ग और आयुष मंत्री श्री सर्वानंद सोनोवाल ने डिब्रूगढ़ में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, 13 अक्टूबर को एक महत्वाकांक्षी पहल PM गटीशक्ति की शुरुआत के माध्यम से राष्ट्र की प्रगति की गति को नई 'शक्ति' मिली। उन्होंने कहा कि PM गतिशक्ति बहु-मॉडल कनेक्टिविटी और समग्र शासन के विस्तार के लिए एक राष्ट्रीय मास्टर प्लान है जिससे 21वीं सदी के भारत को प्रोत्साहन मिलेगा।

भारत में गैस पाइपलाइन के बारे में बात करते हुए श्री सोनोवाल ने कहा कि पिछले 7 वर्षों में देश भर में 16 हजार किलोमीटर से अधिक लंबी गैस पाइपलाइन के लिए काम चल रहा है। रेलवे कनेक्टिविटी की भी बात करते हुए मंत्री ने कहा कि पिछले 7 साल में 9 हजार किलोमीटर से ज्यादा रेल लाइन को दोगुना किया गया है और 24 हजार किलोमीटर से ज्यादा रेल पटरियों का विद्युतीकरण किया गया है।

21वीं सदी के भारत के मंत्र का उल्लेख करते हुए श्री सोनोवाल ने कहा कि आज का मंत्र प्रगति, प्रगति के लिए धन, प्रगति के लिए योजना और प्रगति के लिए वरीयता और पीएम यतीशक्ति-राष्ट्रीय मास्टर प्लान इन सभी मुद्दों का समाधान करेगा।

मैक्रो प्लानिंग और माइक्रो क्रियान्वयन के बीच व्यापक अंतर के बारे में बात करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि समन्वय की कमी की समस्या हमेशा निर्माण में बाधा उत्पन्न करती है और बजट की बर्बादी करती है । उन्होंने कहा कि 2014 में जब प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मौजूदा सरकार सत्ता में आई तो सैकड़ों अटकी परियोजनाएं थीं। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने इस सभी परियोजनाओं को एक मंच पर रखा और बाधाओं को दूर करने की कोशिश की और इस पहल के कारण दशकों से कई अधूरी परियोजनाएं पूरी हो रही हैं।

मंत्री ने बताया कि रेलवे, सड़क और राजमार्ग, बिजली, जहाजरानी सहित 16 सेंरल सरकारी विभाग इस गतका पहल का हिस्सा होंगे। उन्होंने कहा कि गतका विभिन्न केंद्रीय मंत्रालयों और राज्य सरकार की बुनियादी ढांचा योजनाओं को शामिल करेगी और यह मास्टर प्लान भी व्यापक दक्षता के साथ काम को जल्दी पूरा करना सुनिश्चित करेगा ।

Post a Comment

Thanks for messaging us.

Previous Post Next Post

Offer

<

Mega Offer