भाजपा मौजूदा मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल को हटाने का कोई कारण नहीं है

भाजपा मौजूदा मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल को हटाने का कोई कारण नहीं है


BJP has no reason to remove incumbent Chief Minister Sarbananda Sonowal, he indigenous Sonowal-Kachari tribes of Assam: ©Provided by Bodopress/Karan Singh

May 9, 2021: भाजपा मौजूदा मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल को हटाने का कोई कारण नहीं है, असम के नए मुख्यमंत्री की नियुक्ति को लेकर भाजपा नेतृत्व को कड़ा विकल्प का सामना करना पड़ रहा है-एकमात्र राज्य जहां हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनावों में पार्टी ने जीत दर्ज की हैं ।


असम के स्वदेशी Sonowal-Kachari आदिवासियों से संबंध रखने वाले सोनोवाल और पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन के संयोजक सरमा दोनों असम सरकार के शीर्ष पद के दावेदार हैं। पार्टी के पास मौजूदा मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल को हटाने का कोई कारण नहीं है, जिनकी साफ छवि और पिछले कार्यकाल में सुशासन ने पार्टी को राज्य में सत्ता हासिल करने में मदद की है ।


दूसरी ओर हिमांता बिस्वा सरमा हैं, जिन्होंने असम में भाजपा शासन का सत्ता में रखा था और 2016  के चुनावों में पार्टी को पूर्वोत्तर क्षेत्र में रास्ता बनाने में मदद की थी । NE में प्रभावशाली नेता रहे सरमा ने 2015 में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। पिछली बार मुख्यमंत्री पद के लिए उन्हें नहीं माना गया था क्योंकि वह पार्टी के लिए बहुत नए थे। हालांकि, समय के साथ सरमा ने बहुत ही कम अवधि में पड़ोसी राज्यों अरुणाचल, मणिपुर और त्रिपुरा पर भाजपा की पकड़ मजबूत करते हुए खुद को सहमाद  दी थी  ।


असम राज्य में विधानसभा चुनाव अभियान के मौसम में सोनोवाल को संभवतः केंद्र सरकार में भूमिका मिलने और हिमांता बिस्वा को मुख्यमंत्री के रूप में उनकी जगह लेने की अटकलें लगाई जा रही हैं, क्योंकि भगवा पार्टी ने एकमुश्त CM उम्मीदवार का नाम नहीं लिया था ।


पिछले रविवार को 126  सदस्यीय असम विधानसभा के लिए घोषित परिणामों में भाजपा ने 60  सीटें जीतीं जबकि उसके गठबंधन सहयोगियों AGP  को 9 सीटें और UPPL  को 6 सीटें  मिली हैं  ।


असम के अगले मुख्यमंत्री को लेकर खाली जगह के बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्य मंत्री हिमांता बिस्वा सरमा ने शनिवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और स्वास्थ्य मंत्री हिमांता सरमा दोनों को भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने अगली सरकार के नेतृत्व के मुद्दे पर चर्चा के लिए नई दिल्ली बुलाया था ।


हालांकि असम से दोनों नेता शनिवार सुबह दिल्ली पहुंचे, लेकिन सरमा उनसे और भाजपा महासचिव (संगठन) बीएल संतोश से मिलने नड्डा के आवास पहुंचे। इनमें अमित शाह भी शामिल हुआ था । बाद में उस दिन सोनोवाल भी भाजपा के शीर्ष नेता से मिलने नड्डा के आवास पहुंचे।


भाजपा के केंद्रीय मंत्री ने भी मुख्यमंत्री चुनाव पर असम के जनता के ऊपर चर दिए हैं।  ताकि कोई आवाज ना उठा चके। आज गुवाहाटी में बिधायक दुवारा मुख्यमंत्री दाबेदार का चुनाव हो चकता हैं। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, असम के स्वदेशी Sonowal-Kachari आदिवासियों से संबंध रखने वाला  ब्यक्ति हैं।  पिछले tenure में दोनों ने जमकर काम किया और असम को आगे लाने में दोनों का बड़ी हाथ रहा । 

Bodopress

"Bodopress" is a news blogging that strives to create awareness through news among people of a different culture with confidence.

Post a Comment

Thanks for messaging us.

Previous Post Next Post

Ads

Recent Popular Uploaded

Assam CM Himanta Biswa Sarma is planning to reopen all offices from July