Schools in Assam have been reopened since 1 Jan, but students will have to follow the some rules.

Schools in Assam have been reopened since 1 Jan, but students will have to follow the some rules.

Schools in Assam have been reopened since 1 Jan, but students will have to follow the some rules.

Assam में स्कूलों को 1 जनवरी से फिर से खोल दिया गया है, लेकिन छात्रों को कुछ नियमों का पालन करना होगा। और टीचरों को हर 30 दिन के बाद COVID-19 टेस्ट से गुजरना होगा।  

स्कूल के एक अधिकारियों ने कहा कि Assam के स्कूलों को प्राथमिक छात्रों के लिए शुक्रवार को 10 महीने बाद फिर से खोला गया हैं, जो सख्त COVID-19 प्रोटोकॉल का पालन कर रहा था । कक्षा एक से पांच तक की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों के लिए नए साल के पहले दिन कक्षा शिक्षण शुरू हो गया हैं, हालांकि उनकी उपस्थिति अनिवार्य नहीं है और माता-पिता की सहमति पर निर्भर करेगी।

एक स्कूल अधिकारियों ने "Bodopress" को कहा हैं, कि 50 प्रतिशत से अधिक छात्र जो उत्साह से भरे थे, उन्होंने मास्क पहनकर स्कूलों में भाग लिया और कक्षाओं में प्रवेश करने से पहले उन्होंने सेनिटाइज़र  का इस्तेमाल किया हैं । स्कूलों को फिर से खोलने के लिए सख्त सुरक्षा प्रोटोकॉल रखा गया है, जिसमें नियमित रूप से कक्षाओं की सफाई शामिल है। जिला प्रशासन स्थिति पर बारीकी से नजर रखा जायेगा ।

कक्षा एक, दो और तीन के छात्र मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को स्कूल में भाग लेंगे, जबकि कक्षा चार में पढ़ने वाले छात्र सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को अपने संस्थानों में जाएंगे। प्राथमिक स्तर के लिए कक्षाएं सुबह 9.45 से 1:45 के बीच आधे घंटे के लंच ब्रेक के साथ दोपहर 12:15 बजे से आयोजित की जाएंगी, स्कूल अधिकारियों ने कहा कि पांच साल से कम उम्र के छात्र स्कूलों में नहीं जा सकते हैं ।

स्कूल अधिकारियों ने कहा कि जो छात्र शारीरिक कक्षाओं में नहीं जाना चाहते हैं, उनके लिए शिक्षा का ऑनलाइन मोड जारी रहेगा और यह सभी निजी और कोचिंग संस्थानों पर भी लागू होगा।

शिक्षा विभाग द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) के अनुसार, टीचिंग और नॉन-टीचिंग स्टाफ को हर 30 दिनों में COVID-19 टेस्ट से गुजरना होगा और स्कूलों में कोई सांस्कृतिक या अन्य कार्य नहीं होंगे।

असम में शैक्षिक संस्थान 29 मार्च से बंद थे। आवासीय स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए छात्रावासों ने राज्य शिक्षा विभाग के निर्देशों के बाद 15 दिसंबर से काम करना शुरू कर दिया है।

इंजीनियरिंग, कॉलेजों, पॉलिटेक्निककॉलेजों, विश्वविद्यालयों और अन्य पेशेवर संस्थान अपने अकादमिक कैलेंडर और संबंधित अधिकारियों द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुसार सामान्य रूप से कार्य करेंगे। 

Bodopress

"Bodopress" is a news blogging that strives to create awareness through news among people of a different culture with confidence.

Post a Comment

Thanks for messaging us.

Previous Post Next Post

Ads

Recent Popular Uploaded

Father Me | (O father of the fatherless) | Kajal Sah, Kolkata